Dadu Tales

Santoshi Mata Aarti – Main To Aarti Utaru Re Santoshi Mata Ki Aarti

Main To Aarti Utaru Re Santoshi Mata Ki Aarti - Santoshi Mata Aarti

Santoshi Mata Aarti – Me to Aarti Utaru Re Santoshi Mata Ki

मैं तो आरती उतारूँ रे, संतोषी माता की।
जय जय संतोषी माता,जय जय माँ। 
जय जय संतोषी माता,जय जय माँ॥

बड़ी ममता है बड़ा प्यार, माँ की आँखों में। 
माँ की आँखों में …..

बड़ी करुणा माया दुलार, माँ की आँखों में। 
माँ की आँखों में …..

क्यूँ ना देखूँ मैं बारम्बार, माँ की आँखों में।
माँ की आँखों में ….. 

दिखे हर घड़ी नया चमत्कार, आँखों में माँ की आँखों में॥ 
माँ की आँखों में…….

हो नृत्य करो झूम झूम, छम छमा छम झूम झूम। 
नृत्य करो झूम झूम, छम छमा छम झूम झूम,

झांकी निहारो रे, ओ बाकि बाकि झांकी निहारो रे॥ 
माँ की आँखों में……

मैं तो आरती उतारूँ रे, संतोषी माता की। 
जय जय संतोषी माता, जय जय माँ।
जय जय संतोषी माता, जय जय माँ। 

सदा होती है जय जय कार, माँ के मंदिर में। 
माँ के मंदिर में…..

नित्त झांझर की होवे झंकार, माँ के मंदिर में। 
माँ के मंदिर में……

सदा मंजीरे करते पुकार, माँ के मंदिर में। 
माँ के मंदिर में……

वरदान के भरे हैं भंडार, माँ के मंदिर मे। 
माँ के मंदिर में……

हो दीप धरो धूप करूँ, प्रेम सहित भक्ति करूँ।
दीप धरो धूप करूँ, प्रेम सहित भक्ति करूँ।

 हो जीवन सुधारो रे ,हो प्यारा प्यारा जीवन सुधारो रे, 
मैं तो आरती उतारूँ रे, संतोषी माता की॥ 

जय जय संतोषी माता ,जय जय माँ। 
जय जय संतोषी माता, जय जय माँ ।। 

मैं तो आरती उतारूँ रे, संतोषी माता की।
जय जय संतोषी माता,जय जय माँ॥
जय जय सन्तोषी माता,जय जय माँ॥

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *